जल निगम निदेशक मण्डल

अंतिम नवीनीकृत : शनिवार, Feb 23 2019 6:00PM

अध्यक्ष के अतिरिक्त निगम के 11 अन्य सदस्य होते हैं। अध्यक्ष एवं सदस्य राज्य सरकार द्वारा मनोनीत होते हैं। राज्य सरकार द्वारा नियुक्त जल निगम के प्रबंध निदेशक जल सम्पूर्ति एवं सीवर व्यवस्था के विषय में अर्हता प्राप्त एवं इस विषय में पर्याप्त अनुभव तथा प्रशासकीय अनुभव वाले अभियंता होते हैं। वित्त निदेशक, जिन्हें वित्तीय तथा लेखा संबंधी विषयों का अनुभव होता है, को भी राज्य सरकार द्वारा नियुक्त किया जाता है। जल निगम निदेशक मण्डल में वर्तमान में निम्नलिखित सदस्य हैं:-

स्थाई सदस्य पदेन सदस्य
अध्यक्ष

सचिव, नगर विकास, उ0प्र0 शासन

प्रबंध निदेशक

सचिव, वित्त, उ0प्र0 शासन

वित्त निदेशक

सचिव, नियोजन, उ0प्र0 शासन

  सचिव,ग्राम्य विकास, उ0प्र0 शासन
  निदेशक, स्थानीय निकाय, उ0प्र0
  महानिदेशक, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवाएँ, उ0प्र0

उपरोक्त के अतिरिक्त स्थानीय निकायों के 3 नियमित प्रधान, राज्य सरकार द्वारा मनोनीत किये जाते हैं। सार्वजनिक उद्यम विभाग के प्रमुख सचिव को जल निगम की बैठकों में स्थाई आमंत्री के रूप में बुलाया जाता है।

उपरोक्त के अतिरिक्त राज्य सरकार द्वारा निगम को और अधिक प्रभावी बनाने के उद्देश्य से उत्तर प्रदेश जल सम्भरण तथा सीवर व्यवस्था अधिनियम-1975 के (अधिनियम सं.-43, सन्-1975) धारा -4 एवं 6 में निम्नवत् संशोधन किया गया है:-

‘‘राज्य में सामाजिक एवं लोक जीवन में विशिष्ट ख्याति प्राप्त तीन से अनधिक गैर सरकारी व्यक्ति जो राज्य सरकार द्वारा उपाध्यक्ष के रूप में निर्दिष्ट किये जायेंगे’’

वर्तमान में कोई उपाध्यक्ष तैनात नहीं है।